भोपाल । मध्‍यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और  छिंदवाड़ा सांसद व प्रदेश कांग्रेस के अध्‍यक्ष कमलनाथ के बीच सोशल मीडिया पर चल रहा विवाद का रूप सियासी  होने लगा है। मंगलवार को हुई शिवराज की कैबिनेट बैठक में शामिल हुए पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि भाजपा नेताओं को चाहिए कि वो कमलनाथ को अपने बयानों में वयोवृद्ध नेता या बुजुर्ग नेता कहकर पुकारें। हम उनका सम्मान करते हैं, उनसे वृद्धाश्रमों के उद्घाटन करवाएंगे।

शिवराज सिंह की कैबिनेट बैठक के बाद अनौपचारिक चर्चा के दौरान यह बात मुख्‍यमंत्री के हैलीकॉप्‍टर में एयरकंडीशनर की गड़बड़ी से शुरू हुई जो बाद में नेताओं की उम्र तक जा पहुंची। इसी दौरान प्रदेश सरकार के पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि कमलनाथ को अब बयानबाजी के दौरान वयोवृद्ध नेता या बुजुर्ग नेता कहकर पुकारा जाना चाहिए। इतना ही नहीं पंचायत मंत्री ने कहा कि कमलनाथ के हाथों से वह वृद्धाश्रमों के उद्घाटन करवाने जा रहे हैं।

पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव के इस बयान का पुरजोर समर्थन करते हुए नरोत्‍तम मिश्रा ने भी कमलनाथ को वयोवृद्ध और बुजुर्ग नेता कह डाला । वहीं प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी मंत्रियों को सोशल मीडिया पर एक्‍ट‍िव रहने के लिए  हिदायत दी है। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के हर कमेंट का जोरदार जवाब देने के लिए हमेशा तैयार रहें। और तुरंत ही सबको सबक सिखाने की बात कही।

ज्ञात होवे कि सीएम शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंगलवार को कैबिनेट की बैठक हुई थी । कैबिनेट बैठक में सरकारी कर्मचारियों का भी दो फीसदी महंगाई भत्ता बढ़ाने के फैसले को आखिर कार मंजूरी दे दी गई। इस फैसले के बाद कर्मचारियों का महंगाई भत्ता पांच फीसदी से बढ़ाकर सात फीसदी कर दिया गया है। इसके साथ ही कैबिनेट में संविदा नियुक्ति नियमों में संशोधन को भी कैबिनेट ने मंजूरी दे दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.