छिंदवाड़ा। जिले के आदिवासी विकास विभाग में पदस्थ एक अधिकारी वाकई में मानसिक रूप से विकृत है क्योंकि इस अधिकारी की सैकड़ों शिकायतें होने के बाद यही कारण समझ में आ रहा है कहीं साहब अनुसूचित जाति के कन्या छात्रवासों की लड़कियों से अश्लीलता, एस सी वर्ग की महिला शिक्षक ,अधीक्षक से छेड़छाड़ करने की बात जो प्रकरण अभी भी कोर्ट में चल रही है इतना ही नहीं रवि कुमार कनोजिया नाम के इस अधिकारी का छिंदवाड़ा जिले से मोह इस तरह से है कि इसका 30 मई 2015 को बैतूल जिले में स्थानांतरित कर दिया है था मगर साहब का तगड़े सेटिंग्स के कारण आज तक यही जमे हुए हैं ।

आखिर इन सभी शिकायतें दर्ज के बाद भी जिले की चौरई विधानसभा क्षेत्र से विधायक रमेश दुबे ने भी रवि कुमार कनोजिया की यही घटिया किस्म की हरकतें की शिकायत तत्कालीन आदिम जाति कल्याण मंत्री सहित जिले के कलेक्टर को भी की कुछ समय कनोजिया परेशान रहे फिर सब सेटिंग्स से काम झमाझम शुरू कर दिया है

34 thoughts on “क्या मानसिक रोगी है आदिवासी विभाग में पदस्थ साहब ?”

Leave a Reply

Your email address will not be published.