भोपाल। जैसा की कुछ दिन पहले ही कर्णाटक में विधान सभा के चुनाव संपन्न हुए जहाँ भी फर्जी मतदाताओं की बात सामने आयी थी ऐसा ही कुछ मध्यप्रदेश
के चुनाव के ठीक पहले सुगबुगाहट सुनाई देने लगी है ,मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले लगातार मतदाता सूची गड़बड़ियां सामने आ रही है। बीते दिनों कांग्रेस के पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुरेश पचौरी ने मतदाता सूची में गड़बड़ी, फर्जी और अपात्र मतदाताओं सहित अन्य शिकायतों को लेकर मुख्य निर्वाचन अधिकारी सलीना सिंह को ज्ञापन सौंपा था और निष्पक्ष जांच की मांग की थी।

अब प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दावा  किया है कि मध्यप्रदेश में लगभग 60  लाख फर्जी मतदाता है, जो आज भी वोट दे रहे है।कई जगहों पर एक मतदाता का नाम एक से ज्यादा मतदाता सूची में दर्ज है।कई ऐसे है, जो की मध्यप्रदेश छोड़कर जा चुके है, कई ऐसे है जिनकी मृत्यु हो चुकी और कई ऐसे है जो मध्यप्रदेश के नही है लेकिन रह मध्यप्रदेश में रहे है और फर्जी वोट डाल रहे है।

इसी को लेकर प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया आगामी 3 जून को दिल्ली जाने वाले है और वहां इलेक्शन कमिशन में मध्यप्रदेश में 60 लाख फर्जी मतदाता होने की शिकायत दर्ज कराने वाले है। इसके साथ ही वे मुख्यमंत्री शिवराज द्वारा जिलों में जा- जाकर घोषणाएं करने पर भी रोक लगाने की मांग करेंगे।वही चुनाव के समय के पहले ही मप्र में आचार संहिता लागू करने की भी बात रखेंगें।

गौरतलब है कि कुछ समय पूर्व ही मध्य प्रदेश के शिवपुरी में फर्जी मतदाता बनाए जाने का बड़ा खुलासा हुआ था। यहां लगभग 60,000 फर्जी मतदाता पाए गए थे, जिनमें से लगभग 21,000 तो ऐसे हैं, जिनकी वर्षो पहले मौत हो चुकी थी।  निर्वाचन अधिकारी ने इन मतदाताओं को संदिग्ध बताया था और सूची सही किए जाने की बात कही थी।  इस फर्जी सूची में जिले की पांच विधानसभा सीटों में 59,517 वोटर फर्जी पाए जाने के बाद करीब 24992 वोटरों के नाम सूची से काट दिए गए थे। इसमें से मृत 20,886 मतदाताओं में से 14901 मतदाताओं के नाम सूची में से हटाए गए हैं।

29 thoughts on “मध्यप्रदेश में 60  लाख फर्जी मतदाता :कमलनाथ”

Leave a Reply

Your email address will not be published.