आज इंदौर में वन, योजना एवं आर्थिक सांख्यिकी मंत्री डॉ.गौरीशंकर शेजवार ने विश्व वानिकी दिवस- 21 मार्च के अवसर पर प्रदेश के नागरिकों से पेड़ों की सुरक्षा और नये क्षेत्रों मे पौध-रोपण का संकल्प लेने की अपील की है। उन्होंने अपने संदेश में कहा की पृथ्वी पर जीवन का अस्तित्व बनाये रखने के लिये हरियाली का होना अति-आवश्यक है। वन संसाधनों के बेहतर प्रंबंधन से ही हम भावी पीढी का जीवन सुरक्षित रख सकेंगे।
डॉ. शेजवार ने कहा कि प्रदेश में वानिकी के साथ ग्राम संसाधन विकास के अनेक निर्णय लिये गये हैं। वनांचल में रहने वाले ग्रामीणों, महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ एवं शिक्षा के उत्थान में दीनदयाल वनांचल सेवा को उल्लेखनीय सफलता मिली हैं। वन और वन्य जीव संरक्षण के प्रति विद्यार्थियों को जागरूक करने के लिये इस वर्ष अनुभूति कार्यक्रम में एक लाख से अधिक बच्चों को जंगलों की सैर करवाई गई।
वन मंत्री ने कहा की गत वर्ष 2 जुलाई को नर्मदा नदी के कछार में एक दिन में 7 करोड़ से अधिक पौधे लगाये गये। सभी का प्रयास होना चाहिए की लगाये गये पौधे बड़े होकर वृक्ष बन सकें।

214 thoughts on “पृथ्वी का अस्तित्व बचाने के लिए हरियाली बचाना आवश्यक”

Leave a Reply

Your email address will not be published.