सीएम योगी आदित्यनाथ

लंबे समय तक नोएडा के लिए कहा जाता रहा कि यहां पर प्रदेश का अगर कोई सीएम आ गया तो उसकी कुर्सी चली जाती है। लेकिन प्रदेश के मौजूदा सीएम योगी आदित्यनाथ ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। करीब 6 माह में पांच बार वह नोएडा आए। इतना ही नहीं, देश के पीएम ने भी चार साल में चार बार नोएडा आकर ऐसा काम कर दिया, जो प्रदेश के इतिहास पहले कभी नहीं हुआ।

दरअसल, बसपा और सपा के कार्यकाल इस तरह की अफवाहें उड़ती रही हैं कि प्रदेश के सीएम के लिए नोएडा आना अशुभ है। इसलिए कोई सीएम नोएडा आने की हिम्मत नहीं जुटा पाया। प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सीएम बने तो उन्होंने अफवाहों पर ध्यान नहीं दिया। सबसे पहले वह 23 दिसंबर 2017 को नोएडा पहुंचे और बॉटेनिकल गार्डन से कालजी मजेंडा मेट्रो लाइन के उद्घाटन की तैयारी का जायजा लिया।

इसके दो दिन बाद 25 दिसंबर 2017 को  पीएम मेट्रो का उद्घाटन करने पहुंचे तो योगी भी मौजूद रहे। यानी तीन दिन के अंदर दो बार सीएम ने आकर सभी बातों को पीछे छोड़ दिया। यह भी कह गए कि वह बार-बार नोएडा आएंगे। इसके बाद पिछले सप्ताह सिंचाई विभाग ओखला में उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक ली थी। इसके बाद 8 जुलाई को समीक्षा की और फिर 9 जुलाई को वह पांचवीं बार सैमसंग कंपनी के उद्घाटन के अवसर पर पहुंचे।

इतनी बार कोई पीएम और सीएम नहीं पहुंचे नोएडा
यह भी कम दिलचस्प नहीं कि केंद्र और यूपी में भाजपा सरकार बनने के बाद चार बार पीएम और पांच बार सीएम नोएडा आ चुके हैं। पीएम का नोएडा आगमन चार साल में चार बार हुआ है। 31 दिसंबर 2015, 5 अप्रैल 2016, 25 दिसंबर 2017 और 9 जुलाई 2018 को सैमसंग कंपनी का उद्घाटन किया। बताते हैं कि यूपी के इतिहास में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ कि पीएम और सीएम का इतने बार दौरा हुआ हो। पीएम ने स्टार्टअप योजना, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का उद्घाटन भी नोएडा से ही शुभारंभ किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.