संबंधित इमेज

पेशावर/कराची,  पाकिस्तान में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की गिरफ्तारी से ठीक पहले शुक्रवार को चुनावी रैलियों को निशाना बनाकर किये गये धमाकों में 133 लोगों की मौत हो गई जबकि 125 अन्य लोग घायल हुए हैं. आतंकियों ने बलूचिस्तान प्रांत के मासतुंग क्षेत्र में बलूचिस्तान अवामी पार्टी (BAP) के नेता सिराज रायसानी की रैली को निशाना बनाया.

जिला पुलिस अधिकारी मोहम्मद अयूब अचकजई ने कहा कि रायसानी घायल हो गए थे और उन्हें क्वेटा ले जाया जाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया. रायसीनी बलूचिस्तान के पूर्व मुख्यमंत्री नवाब असलम रायसानी के भाई हैं. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस्लामिक स्टेट समूह (ISIS) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है.

बलूचिस्तान के कार्यवाहक स्वास्थ्य मंत्री फैज काकर ने बताया, ‘शुरुआत में मृतकों की संख्या अधिक नहीं थी लेकिन रायसानी समेत गंभीर रूप से घायल लोगों की अस्पताल में मौत हो गई.’ उन्होंने बताया कि मृतकों की संख्या और भी बढ़ने की आशंका है क्योंकि धमाकों में 120 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं.

बम निरोधक दस्ते (बीडीएस) के अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है यह एक आत्मघाती हमला था. उन्होंने बताया कि हमले में लगभग 16-20 किलोग्राम विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया था. इस घटना के बाद क्वेटा के अस्पतालों में आपात स्थिति घोषित कर दी गई.

इस घटना से कुछ ही घंटे पहले खैबर पख्तूनख्वा के बन्नू इलाके में मुत्ताहिदा मजलिस अमाल नेता अकरम खान दुर्रानी की रैली में विस्फोट हुआ. पुलिस के अनुसार इस घटना में पांच लोगों की मौत हो गई जबकि 37 अन्य घायल हो गए. इस हमले में दुर्रानी बाल-बाल बच गए लेकिन उनके वाहन को नुकसान हुआ है.

दुर्रानी 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव में पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ पार्टी (PTI) के प्रमुख इमरान खान के खिलाफ मैदान में हैं. उन्होंने कहा कि धमकियों के बाद भी वह चुनाव प्रचार जारी रखेंगे. चुनाव के पहले अचानक ही कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ गई है. हालांकि सरकार और सुरक्षा बलों का दावा है कि आतंकवाद का देश से सफाया हो गया है.

राष्ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधानमंत्री नसीरूल मुल्क ने इन हमलों की निंदा की है. बता दें कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव होने हैं.

चुनावी रैलियों पर निशाना

इससे पहले 10 जुलाई को पाकिस्तान के पेशावर में एक चुनावी बैठक के दौरान भी आत्मघाती हमला हुआ था जिसमें अवामी नेशनल पार्टी के नेता हारून सहित 14 लोगों की मौत हो गई थी. वहीं इस महीने की शुरुआत में खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के तख्तीखेल के पास चुनावी रैली में हुए विस्फोट के चलते एमएमए के उम्मीदवार समेत 7 लोग घायल हो गए थे.

सलाखों में नवाज शरीफ

भ्रष्टाचार के मामले में दोषी करार दिए गए पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ शुक्रवार शाम को पाकिस्तान लौट आए हैं. लाहौर पहुंचते ही नवाज और उनकी बेटी मरियम को गिरफ्तार कर लिया गया है. नवाज की वापसी को देखते हुए पाकिस्‍तान में सुरक्षा व्‍यवस्‍था भी कड़ी की गई थी.

90 thoughts on “पाकिस्तान: चुनावी रैलियों में धमाकों से 133 की मौत, IS ने ली जिम्मेदारी”
  1. Heya i’m for the primary time here. I came across this board and I find It really useful & it helped me out a lot. I hope to present one thing back and help others like you aided me.

  2. I have been browsing online more than three hours today, yet I never found any interesting article like yours.
    It’s pretty worth enough for me. In my view, if all site owners and bloggers made good content as you did, the net will be a lot more useful than ever before.

  3. It’s the best time to make some plans for the future and it is time to be happy.
    I have read this post and if I could I want to suggest you some interesting things
    or suggestions. Perhaps you can write next articles referring
    to this article. I want to read even more things about it!

Leave a Reply

Your email address will not be published.