महाकौशल अंचल से ,सतीश नागवंशी की रिपोर्ट………….. 
ग्राम पंचायत के रोजगार सहायकों की हड़ताल मध्यप्रदेश के लगभग सभी जिलों में चल रही है जो पिछले महीने की 15 तारिख से कलमबंद हड़ताल पर रोजगार सहायक है संविलियन से लेकर लगभग जायज मांगों को लेकर यह लोग हड़ताल कर रहे है सनद रहे की इनको धीरे धीरे कांग्रेस पार्टी के नेताओं का भी समर्थन मिलने लगा है, वही सरकार इस मामले शायद गंभीरता से नहीं ले रही है शायद ली होती तो अब तक कोई न निर्णय इनके पक्ष में हो जाता बहरहाल आगे देखना होगा की नियमित करने सहित अन्य मांगों को लेकर आंदोलनरत सहायक सचिवों के बारे में सरकार चुनावी वर्ष में कुछ पिटारा खोलती है या आँख दिखाती है पर इतना तो जरूर है सरकार की किरकिरी हो रही है और सरकार को भी दर सत्ता रहा है की यह वर्ग नाराज हो गया तो सरकार की बेंड बजना तय है क्युकी यह लोग सबसे नीचे की मैदानी अमला कहलाता है ,इसी अमले की मेहनत की वजह से राज्य सरकार और केंद्र सरकार अपनी योजनाओं को प्रचारित करते है अपनी उपलब्धि बताने में पीछे नहीं रहते अब इनकी सुध सरकारें लेंगी तो शायद इन लोगो को जायज मांगे पर सरकारें विचार करे तो सबसे अंतिम पंक्ति के लोगों तक योजनाओं को पहुंचने में सरकार, शासन, प्रसाशन के बीच की कड़ी माने जाते है जो अधोसंरचना विकास में प्रमुख भूमिका निभाने वाले रोजगार सहायक दर दर की ठोकरें खा रहे है कही चाय बेच कर तो कही पकोड़े ताल कर विरोध प्रदर्शन कर रहे है वावजूद इसके सरकार पर इनके विरोध का कोई असर नहीं हो रहा है

परासिया जनपद पंचायत में रोजगार सहायकों का आंदोलन, ये कहा रोजगार सहायकों ने। ……..
ग्राम रोजगार सहायक/सहायक सचिव का 15 मई से अनिश्चित कालीन हड़ताल एव 4 जून से कृमिक भूख हड़ताल पर जनपद पंचायत परासिया के प्रांगण में आज 26 वां दिन जारी है सरकार द्वारा आज तक हमारी मांगो पर कोई सहमति नहीं बनने से 12 जून को भोपाल भरो हुँकार रैली संयुक्त संविदा मंच के आव्हान पर भोपाल में आयोजित है की गई है जिसमे मध्यप्रदेश के समस्त संविदा कर्मी शामिल होंगे । इसके बाद ग्राम रोजगार सहायक 13 जून में से प्रदेश स्तर पर एवं जिला स्तर कृमिक भूख हड़ताल जारी रहेगी सरकार द्वारा हमारी बातो को गंभीरता से नहीं लेने पर आमरण अनशन किया जावेगा जिसकी समस्त जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी l रोजगार सहायक/सहायक सचिव ग्रामपंचायत स्तर का सबसे छोटा कर्मचारी है जो केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार की समस्त जनकल्याणकारी योजना का जमीनी स्तर पर अंतिम पंक्ति के लोगो को फायदा दिलाता है ग्राम रोजगार सहायक प्रतक् रूप से गरीब, मजदूर,महिला, किसान को योजना का फायदा दिलाता है और इनसे हमेशा संपर्क में रहता जो मतदाताओं पर भी असरकारक है ! जिसकी नियुक्ति ग्रामपंचायत स्तर पर मनरेगा योजना के लिये हुई थी किन्तु शासन द्वारा हमें सहायक सचिव अधिसूचित किया गया इसी अधिसूचना के तहत हमें सहायक सचिव के पद पर जिला सम्बर्ग में सम्मिलियन कर नियमित किया जावे ! आज ब्लॉक अध्यक्स सतीश राय परासिया एवं बाला सहाब जिला उपाध्यक्स छिन्दवाड़ा कमलेश विश्वकर्मा दिलीप पटवा रामकिशन यदुवंशी बलराम डेहरिया सतीश पंदराम कलीम गोविन्द रेखन अजय पाल टिंका रूपेश विश्वकर्मा दिलीप डेहरिया नवीन डेहरिया इत्यादि रोजगार सहायक /सहायक सचिव द्वारा हड़ताल जारी रखी गई है !प्रांतीय आवाहन पर सहायक सचिव के पद पर संविलियन के साथ नियमितीकरण की मांग को लेकर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठे सहायक सचिव जनपद पंचायत कुरई के द्वारा 15/05/2018 से हड़ताल लगातार चालू है लेकिन हड़ताल के 26 दिन बीत जाने के बाद भी शाशन प्रशाशन द्वारा किसी प्रकार से भी मांगो का निराकरण किये जाने हेतु सकारात्मक पहल नही की गई है जिससे सहायक सचिव संगठन जनपद पंचायत कुरई द्वारा अपनी मांगों को पूरा किये जाने हेतु क्रमिक भूख हड़ताल दिनांक 06/06/2018 से प्रारम्भ कर दी गई है अगर शीघ्र ही मांगों का निराकारण शासन प्रशासन द्वारा नही किया जाता हैं तो आन्दोलन और उग्र होगा जिसकी संमस्त ज़िम्मेदारी शासन की होगी ।उक्ताशय की जानकारी सहायक सचिव संगठन के अध्यक्ष पवन कुमार पटवा द्वारा दी गई।आज क्रमिक भूख हड़ताल में पवन कुमार पटवा विनोद मालवीय हेमंत सोनी तररनुम खान रविशंकर वर्मा मधुसूदन सनोडिया दुलीचंद पंचबाहे दिनेश मशराम चैतराम वर्मा रामगोपाल डहरवाल मनोज कोशले श्यामराज भलावी अजय जामुनपाने एवं संमस्त साथी उपस्थित रहे।

जुन्नारदेव में रोजगार सहायकों का आंदोलन
कांग्रेस ने भी दे दिया आंदोलन को समर्थन। …………….
जुन्नारदेव:- तहसील मुख्यालय पर गत 25 दिनों से अपनी विभिन्न मांगों को लेकर जारी रोजगार सहायक संघ के आंदोलन स्थल पर आज ब्लॉक कांग्रेस कमेटी पहुँची जहा अध्यक्ष घनश्याम तिवारी ने कहा कि कांग्रेस इस आंदोलन में आपके साथ है एवं आपकी मांगों का समर्थन करती है। घोषणावीर मुख्यमंत्री ने झूठी घोषणा करने का नया कीर्तिमान स्थापित किया है उन्हें खुद ही होश नही है कि उन्होंने कितनी हजार घोषणाएं की है । मुख्यमंत्री ने हर आंदोलन को विफल करने की कोशिश की है जब वे किसी आंदोलन को विफल करने में असफल रहते है तब वे आंदोलन में फुट डालने का काम भी बड़ी ही चतुराई से करते है। रोजगार सहायक और सचिव जब मिलकर आंदोलन कर रहे थे तब मुख्यमंत्री ने रोजगार सहायकों पर दबाव एवं लालच देकर वित्तीय अधिकार सचिवों से छीनकर रोजगार सहायकों को दे दिए थे। जिससे आपस मे फूट पड़ गई। वहीं साथ गए पूर्व जिला पंचायत सदस्य सुनील उइके ने कहा कि पूरा प्रदेश आपकी ओर टकटकी लगाकर देख रहा है अभी आप याचक है 6 माह बाद आप दाता बनने वाले है, क्योकि आप छिंदवाड़ा के लोग है और आगामी समय मे छिंदवाड़ा पूरे प्रदेश का नेतृत्व करने वाला है। अगर आज मुख्यमंत्री ने आपकी नही सुनी तो 6 महीने बाद सांसद कमलनाथ आपकी मांगों को पूरा करेंगे। कांग्रेस आपके दुःख दर्द को अच्छे से समझती है क्योंकि कांग्रेस ने ही इस देश मे महात्मा गांधी के द्वारा बताए गए पंचायत राज को इस देश मे लागू किया। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी ने पंचायतों को पूरे अधिकार दिए थे। लेकिन शिवराज सरकार ने तो पंचायतों के अधिकार छीनकर नौकरशाही को शक्तिशाली बना दिया ।।
जिससे भ्रष्टाचार ही बढ़ा है। ग्रामीण आज दर दर की ठोकरें खाने को मजबूर है जबकि कांग्रेस के राज में उनके सभी कार्य पंचायत में ही हुआ करते थे।
इस मौके पर कांग्रेसजन सतीश शुक्ला सुधीर लदरे अंकित राय और बड़ी संख्या में कांग्रेसी लोग थे।

सिवनी जिले के कुरई जनपद में भी जरी है हड़ताल।
सरकार की वादा खिलाफी के विरोध में सहायक सचिवों ने किया क्रमिक भूख हड़ताड़…………………..

प्रांतीय संगठन के आव्हान पर पंचायत रोजगार सहायको / सहायक सचिव के पद पर संविलियन के साथ नियमितीकरण की मांग को लेकर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठे सहायक सचिव जनपद पंचायत कुरई के द्वारा 15/05/2018 से हड़ताल लगातार चालू है लेकिन हड़ताल के 26 दिन बीत जाने के बाद भी शाशन प्रशाशन द्वारा किसी प्रकार से भी मांगो का निराकरण किये जाने हेतु सकारात्मक पहल नही की गई है जिससे सहायक सचिव संगठन जनपद पंचायत कुरई द्वारा अपनी मांगों को पूरा किये जाने हेतु क्रमिक भूख हड़ताल दिनांक 06/06/2018 से प्रारम्भ कर दी गई है अगर शीघ्र ही मांगों का निराकारण शासन प्रशासन द्वारा नही किया जाता हैं तो आन्दोलन और उग्र होगा जिसकी संमस्त ज़िम्मेदारी शासन की होगी ।

उक्ताशय की जानकारी सहायक सचिव संगठन के अध्यक्ष पवन कुमार पटवा द्वारा दी गई।आज क्रमिक भूख हड़ताल में पवन कुमार पटवा विनोद मालवीय हेमंत सोनी तररनुम खान रविशंकर वर्मा मधुसूदन सनोडिया दुलीचंद पंचबाहे दिनेश मशराम चैतराम वर्मा रामगोपाल डहरवाल मनोज कोशले श्यामराज भलावी अजय जामुनपाने एवं संमस्त साथी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.