छिंदवाड़ा l विगत दिनों काग्रेंस के पार्षदों ने नगर निगम कमिश्‍नर इक्छित गढ़पाले के खिलाफ धरना दिया था ,जिसमे उन्‍होंने कमिश्‍नर पर भेद भाव करने का आरोप लगाया था, कांग्रेसी पार्षदों का कहना था ,कि हमारे वार्ड में कोई कार्य नहीं होते बार बार अधिकारीयों को बोलने के बाद भी काम नहीं होते , बताया जाता है कि इसी मसले को लेकर काग्रेंसी पार्षद नगर निगम कमिश्‍नर से मिलने कार्यालय गये हुये थे, प्राप्‍त जानकारी अनुसार निगम कमिश्‍नर उस दिन भोपाल गये हुये थे और वह छिंदवाड़ा लौट रहे थे ,आखिर सवाल उठता है जब कमिश्‍नर भोपाल से छिंदवाड़ा लौटते वक्त जब वह रास्‍ते में थे, यह जानकारी कांग्रेसी पार्षदों को होने के बावजूद भी धरनेे में बैठे थे,अब यह बात गले नहीं उतरती इससे लगता है ,कि कही ना कही लड़ाई भाजपा काग्रेंस ना रह कर लड़ाई कमिश्‍नर बनाम कांग्रेस समझ आती है सवाल उठता है कि ,काग्रेंसी पाषर्दों के कही बिल तो नहीं रूक गये बताया जाता है कि काग्रेंसी पार्षद जिनके भाजपा परिषद से मधुर सम्‍बध भी जगजाहिर है, लगता है इसी कारण नगर निगम में काग्रेंसी पार्षद ठेकेदारी भी कर रहे है, बताया जाता भी है कि उलटे सीधे बिल निकालेन पर कहीं बेवजह दबाव बनाने की कोशिश तो नहीं की जा रही थी ?

बहरहाल वजह जो भी हो, पर इस सब मामले पर भाजपा ने इसी नोटंकी बताते हुये विकास कार्य में बाधा करार दिया है नगर भाजपा अध्‍यक्ष अरूण शर्मा ने महा कौशल न्‍यूज से बात चीत के दौरान के बताया कि काग्रेंस के पास कोई मुद्दा ही नहीं है, जबकि कमिश्‍नर अपना काम नियम अनुसार निष्‍पक्ष रूप से कर रहे है और काग्रेंसी पार्षदों के वार्ड मे भी करोड़ो रूपये के विकास कार्य हुये सरकार जनहित के लिए समर्पित है जनता कि सुविधा का ध्यान रखा जा रहा है दलगत राजनीती से महत्वपूर्ण शहर कि जनता है

Leave a Reply

Your email address will not be published.