सतीश नागवंशी की कलम से……..

भोपाल  मध्यप्रदेश में किसान आंदोलन की गूंज के बीच पिछले मई माह की 15 तारिख से ग्रामीण अंचल की ग्राम पंचायतों के कर्ताधर्ता कहे जाने वाले सहायक सचिव हड़ताल पर चल रहे है जहाँ प्रदेश में चल रही इनकी हड़ताल जहाँ क्रमिक अनशन में तब्दील हो गयी तो दुसरी तरफ राजगढ़ जिले की जीरापुर जनपद पंचायत के रोजगार सहायक /सहायक सचिव संगठन के दो पदाधिकारी 8 जून से आमरण अनशन पर राजेश शर्मा एंव रघुवीर राठौर बैठ गए है

हालत में लगातार आ रही गिरावट ,चार चार किलो वजन काम हुआ ……..
राजगढ़ जिले की जीरापुर जनपद अंतर्गत दानोदा से रोजगार सहायक और संगठन से जुड़े सदस्य मुरलीधर शर्मा ने महाकौशल न्यूज़ को बताया की हमारे दोनों साथीगण जो आमरण अनशन पर बैठे है उनकी हालत में निरंतर गिरावट आ रही है जो चिंताजनक है आमरण अनशन कर रहे राजेश कुमार शर्मा का BP चेक किया गया जिसमें 97/160 हो गई है एवं और रघुवीर सिंह राठौर 60/100 वही दूसरे साथी राजेश कुमार शर्मा का वजन 85/81 रघुवीर सिंह राठौड़ का वजन 74/70 हो गया है फिर भी सरकार तक इन लोगों की आवाज नहीं पहुंच रही है इसी बीच खबर आ रही है कि 12 जून को भोपाल के नीलम पार्क में रोजगार सहायकों की हुंकार रैली होने वाली है जिसमे पुरे मध्यप्रदेश से रोजगार सहायकों का भोपाल में जमावड़ा लगना शुरू हो गया है

यह कहा जीरापुर के रोजगार सहायक संगठन ने ……..
ग्राम रोजगार सहायक जनपद पंचायत जीरापुर 15 05 2018 से चल रही अनिश्चितकालीन कलमबंद हड़ताल 8/6 /2018 जनपद पंचायत जीरापुर में अनिश्चितकालीन आमरण अनशन चल रहा है उसको आज चौथा दिन पूरा हो चुका है जिसमें हमारे दो जांबाज सिपाही राजेश कुमार शर्मा और रघुवीर सिंह जी राठौड़ की तबीयत खराब हो गई है हमारी मध्य प्रदेश की बहरी और गूंगी सरकार हमारी कोई सुध नहीं ले रही है और ना ही शासन-प्रशासन हमारी कोई सुध ले रहा है लेकिन हमारे जांबाज सिपाही का कहना है कि प्राण जाए पर वचन ना जाए हमारी मध्य प्रदेश की बहरी और गूंगी सरकार जहां तक हमारा लक्ष्य पूरा नहीं होगा यानी हमारा नियमितीकरण नहीं होगा वहां तक हम हड़ताल से वापस नहीं लौटेंगे चाहे जो मजबूरी हो हमारी मांगे पूरी हो हमारे जनपद पंचायत जीरापुर के दो रोजगार सहायक नही पूरे 87 रोजगार सहायक आमरण अनशन पर बैठने के लिए तैयार है हमारे रोजगार सहायक टेक्निकल बंदे हैं सारे ग्राम पंचायत में सचिव की भर्ती की गई वह एक प्रस्ताव पर की गई कोई आठवीं पास तो कोई दसवीं पास है कोई 12वीं पास टेक्निकल की दुनिया में सारे सचिव अंगूठा टेक साबित होते हैं हड़ताल के समय में सारा काम कहीं के पेपर या अन्य ऑपरेटर से करवा रहे हैं और मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा चलाई जा रही अन्य कई योजनाएंं से ग्रामीण क्यों परेशान हो रहे हैं इधर बरसात आ गई है मुझे रहने के लिए मकान नहीं है वह बहुत परेशान हो रहे हो जनपदों के चक्कर काटता है इसी प्रकार विद्यालयों में प्रवेश का समय आ गया है प्रवेश हो रहा है उसमें बच्चों को समग्र ID चाहिए समग्र ID के लिए बच्चों के माता-पिता परेशान हो रहे हैं और जनपद जिला के चक्कर लगा रहे इसका ग्राम रोजगार सहायक आल हो लाखों लोग परेशान हो रहे हैं

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.