भोपाल । मध्यप्रदेश सरकार के आदेशों को आजकल जनता और अधिकारियों ने मजाक के अलावा कुछ नहीं समझ रहे क्योंकि एक दिन आज आदेश जारी होता है दूसरे दिन उसे निरस्त कर दिया जाता है या संशोधन किया जाता है इससे अधिकारी, जनप्रतिनिधियों और आम जनमानस में सरकार की विश्वसनीयता पर प्रश्नचिन्ह लग रहा है।