गोवा में कांग्रेस के सरकार बनाने का दावा करने के बाद सियासी हलचल बढ़ गई। सत्तारूढ़ भाजपा ने तत्काल राजनीतिक हालात का जायजा लेने के लिए सोमवार को एक बैठक बुलाई। बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता राम लाल ने कहा कि गोवा सरकार में नेतृत्व में परिवर्तन की कोई मांग नहीं उठी है।
बता दें कि मुख्यमंत्री मनोहर परिकर के खराब स्वास्थ्य के बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया है। जिसके बाद प्रदेश में हर पल सियासी दौर बदल रहा है। कांग्रेस ने सरकार बनाने का दावा कर राजभवन को एक चिट्ठी सौंपी है।

इसी बीच भाजपा के केंद्रीय पर्यवेक्षकों की उपस्थिति में बुलाई गई। राज्य सरकार के स्थिर होने की बात करते हुए राम लाल ने कहा कि सहयोगियों ने बैठक में भाजपा के लिये अपने समर्थन को दोहराया।

रामलाल जी ने कहा कि बैठक में विभिन्न वरिष्ठ नेताओं द्वारा जाहिर की गई राय से पार्टी आलाकमान को अवगत कराया जाएगा, जो राज्य के हित में फैसला करेगा।

62 वर्षीय परिकर अग्न्याशय की बीमारी के कारन पीड़ित हैं और उन्हें उपचार के लिये अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को पार्टी के तीन वरिष्ठ नेताओं बी एल संतोष, राम लाल और विनय पुराणिक को पार्टी नेताओं और अन्य सहयोगी दलों के नेताओं से मिलने के लिये तटीय राज्य भेजा था।

बैठक सोमवार की सुबह यहां भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में हुई। इसमें पार्टी विधायकों, पूर्व विधायकों और कोर कमेटी के सदस्यों ने हिस्सा लिया।

बाद में लाल ने कहा कि पार्टी ने राज्य में राजनैतिक हालात और अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के लिये तैयारियों पर चर्चा की। रामलाल का कहना हैं की पार्टियों के नेता आने वाले लोकसभा चुनाव के लिए तैयार हैं ।

33 thoughts on “गोवा में सहयोगी दल भाजपा के साथ : राम लाल”

Leave a Reply

Your email address will not be published.