भोपाल । भारतीय गोंडवाना पार्टी के वर्तमान अध्यक्ष और अमरवाड़ा के पूर्व विधायक मनमोहन शाह बट्टी को आखिर फुर्सत मिल ही गई वे आज छिंदवाड़ा से मीलों दूर देवास जिले में सक्रिय हो गये और वहां के लोगों को हरसंभव मदद करने का भी भरोसा दिलाया ,आखिर फुर्सत मिले भी क्यों न भाई चुनाव जो नजदीक हैं ,बहरहाल जोड़तोड़ मैं माहिर बट्टी जिनकी लोकप्रियता एक समय पर महाकौशल प्रान्त में सिर चढ़कर बोल रही थी वही बट्टी आज परिचय के मोहताज हो गए हीरासिंह मरकाम का विश्वास जिस दिन मनमोहन ने खोया उस दिन से उल्टी गिनती शुरू हो गई थी इसी घड़ी से न जाने पार्टी के तीन चार फाड़ हुए और गोंडवाना का अस्तित्व खतरे में चला गया सूत्र बताते है कि मनमोहन शाह की बात राष्ट्रीय अध्यक्ष हीरासिंह को तब से खटकनेवाली हो गई जब बट्टी बिना हाईकमान को विश्वास मैं लिए चंद्रभान भाजपा से जिला पंचायत चुनाव में गठजोड़ किया था , बहरहाल जिस आदिवासी समुदाय में सबसे कद्दावर नेता कहे जाने वाले बट्टी ने निष्क्रिय हो कर समुदाय का विश्वास को कम करने में कसर नहीं छोड़ी , सूत्र बताते हैं कि मनमोहन अप्रत्यक्ष रूप से हर्रई जनपद में सर्वमान्य हैं उसका संचालन निष्पादित किया जाता है ऐसा जानकारी प्राप्त है जो कि कई बार समाचार पत्रों की सुर्खियों में भी बने रहे बहरहाल यदि बट्टी एक दो साल पहले सक्रिय हो गए होते तो शायद गोंडवाना करीब एक दर्जन विधायक जिता सकती थी खैर देर आए दुरुस्त आए वाली बात है

236 thoughts on “गोंडवाना हुई सक्रिय ,जागे मनमोहन बट्टी”
  1. chloroquine vs plaquenil She said she hopes the ACP position paper will encourage doctors to broaden the conversation with patients when prescribing drugs that could be subject to abuse or misuse and to recognize that some patients need more structure around these medications.

Leave a Reply

Your email address will not be published.