रायपुर /भोपाल निज संवाददाता ,गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव श्याम सिंह मर काम ने रेलवे अधिकारियों को चिट्ठी लिखकर और प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि छत्तीसगढ़ मंडल के अंतर्गत 23 ट्रेन के परिसंचालन को 30 दिवस के लिए रोक दिया है इस कारण मध्यप्रदेश महाराष्ट्र सहित अन्य राज्यों से सम्पर्क स्थापित करने का सस्ता और सुगम साधन रेलगाड़ी ही है जिसके बंद होने से आम जनमानस पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा ।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर जोन द्वारा छत्तीसगढ़ अन्य राज्यों से के लिए संचालित 23 यात्री ट्रेनों को जोकि छत्तीसगढ़ मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र सहित अन्य प्रदेशों में आवा जाही आम जन सुविधा हेतु संचालित यात्री ट्रेनों को 24 अप्रैल 2022 से एक माह के लिए रद्द किया जाना छत्तीसगढ़ प्रांत से अन्य प्रांत के आम नागरिकों के लिए काफी पीड़ा दायक है साथ ही यहां के आम नागरिको के साथ छलावा जबकि यहां पर लदान व अन्य कार्य मैं संचालित

सभी ट्रेनों को नियमित समय अनुसार संचालित किया जा रहा है जिससे स्पष्ट प्रतीत हो रहा है

कीर रेल प्रबंधक को सिर्फ अपने व्यवसाय औरऔद्योगिक प्रतिष्ठानों की चिंता है यहां आम नागरिकों कौ नहीं पूरे देश छत्तीसगढ़ प्रांत में एक ऐसा राज्य है जहां से देश के विकास हेतु कोयला सहित विभिन्न खनिज संप्रदाओ खनन कर सभी क्षेत्रों में पूर्ति किया जा रहा है जो कि देश के विकास में अग्रणी है किंतु यहां पर आम नागरिकों के लिए

संचालित 23 ट्रेनों को 1 माह के लिए एक साथ रेलवे प्रबंधक द्वारा रद्द किए जाना आम नागरिकों के लिए कुठाराघात है इसे नियमित आवाजाही करने वाले लाखों यात्री गढ़ हाला कान व परेशान है

यदि आम नागरिकों को जन सुविधा का ध्यान रखते हुए यात्री ट्रेनों का परिचालन पुनः यथावत नहीं किया जाता है तो गोंडवाना गणतंत्र पार्टी द्वारा आर्थिक नाके बंदी सहित रेलवे रोको आंदोलन किया जाएगा जिसकी संपूर्ण जवाबदारी रेलवे प्रबंधक की होगी।

मध्यप्रदेश इकाई भी आंदोलन के लिए तत्पर है : नागवंशी

गोंगपा के मध्यप्रदेश स्तर के महासचिव  सतीश नागवंषी ने बताया कि राष्ट्रीय महासचिव महोदय के पत्र अनुसार मध्यप्रदेश के समस्त पदाधिकारी और कार्यकर्ता इस आंदोलन के लिए हमेशा तैयार है ,जब भी राष्ट्रीय नेतृत्व का आदेश जारी होगा उसका पालन किया जावेगा ।