छिंदवाड़ा जिले की परासिया विकास खंड की ग्राम पंचायत हरण भाटा ,पलटवाड़ा ,फुटेरा के अंतर्गत हो रहे बेतहाशा रेत के अवैध उत्खनन और भण्डारण को लेकर भाजपा के ही लोग अपनी ही सरकार से हताश परेशान होकर मजबूरन आज से भूख हड़ताल पर बैठ गए , दरअसल इन भाजपा नेताओं ने शासन के मूक बधिर तरह के अधिकारीयों को इस आशय की लिखित शिकायत दर्जनों बार कर दिए लेकिन इन लोगों की इनकी सरकार के नौकरशाहों ने एक न सुनी सीधी सी बात यह है की खनिज विभाग ,पुलिस अधीक्षक ,कलेक्टर सहित तमाम जिम्मेद्दार अधिकारियों ने नहीं सुनी तब जाकर इन्होने क्रमिक भूख हड़ताल का सहारा लिया

,निर्धारित घोषित रेत खदान पर नहीं बची है रेत , खदान के अलावा कर रहे अन्यत्र जगह खनन………
जी हां जिस खसरा न 81,105,134,164 के अलावा हो रहे उत्खनन का है विरोध यानि इस क्रमश इन खसरा नंबरों के अलावा होने वाला उत्खनन वास्तव में अवैध है इसकी जांच भी की जा चुकी है पर रेत माफियाओं की दबंगता के आगे सब नतमस्तक है


कांग्रेस नेता पर है अवैध उत्खनन सहित डराने धमकाने का आरोप ………
जिसमे मुख्य शिकायतकर्ता प्रकाश (छोटू) चंद्रवंशी ने आरोप लगाया है की क्षेत्र के लोहांगी निवासी कांग्रस कार्यकर्त्ता जसवंत चौधरी जो की वर्तमान में पलटवाड़ा सहकारी समिति का अध्यक्ष भी है यह लोगों को धमकाता है की मेरी कांग्रेस में पहुंच है तुम कुछ नहीं बिगाड़ सकते इसके अलावा सूत्रों ने भी जानकारी में बताया की जसवंत की खनिज विभाग ,पुलिस सहित ठेकेदार रघुनन्दन जैन के साथ तगड़ी सेटिंग है इस करें उसे कोई फर्क हि नहि पड़ता कितनी ही शिकायत कर दो,खनिज विभाग की छवि लगातार हो रही है धूमिल इधर खनिज अधिकारीयों और विभाग की कार्यशैली तो सब को ही पता है नींद में सोया है विभाग न कोई जानकारी देता है न कोई कार्यवाही करता है हद तो तब हो जाती है जब प्रदेश सहित सम्पूर्ण देश में सत्ताशीन भारतीय जनता पार्टी के मजबूत कार्यकर्ता नेताओं को भूख हड़ताल पर बैठना पड़ता है यह बात से साफ़ जाहिर होता है की जिले में अफशर सराज चल रहा है भारतीय मुद्रा दो और अधिकारियो से जो चाहे काम करवा लो चाहे आप कांग्रेस के हो या भाजपा के इनके स्वार्थ की पूर्ती कर दो बस सब सही है
पहले पुलिस रहती थी सख्त ………..
जी है आज से लगभग तीन माह पहले रेत चोरों की सहमत आ गई थी जब पुलिस के जांबाज अफसर इन चोरों की नाक में डैम किये हुए थे मगर अब तो सरे अफसर इनसे घुल मिल गए है मानो मधुर सम्बन्ध बन गए है यह भी एक मुख्य कारण है की रेत का अवैध उत्खनन अनवरत जारी है जिससे यहाँ बहने वाली पेंच नदी खोखली हो चुकी है जलस्तर भी लगातार गिर रहा है मगर अधिकारी निश्चिन्त है ग्रामीण शिकायत कर रहे है तो कार्यवाही नहीं हो रही इससे तो लगता है रक्षक ही ईमानदार नहीं रहे

भाजपा के ये लोग है मुख्य रूप से शामिल ……..
भाजपा के बड़े नेताओं में परासिया जनपद स्तरीय अंत्योदय समिति अध्यक्ष जगदीश पाल ,भाजपा ग्रामीण मंडल अध्यक्ष देवीलाल पाल ,सेठिया उपसरपंच महेंद्र राय ,राहुल साहू ,कमलेश बंदेवार , व इस कार्यक्रम के संयोजक छोटू चंद्रवंशी सहित कई लोग इस आंदोलन को लीड कर रहे है

34 thoughts on “रेत अवैध उत्त्खनन के खिलाफ भाजपा बैठी भूख हड़ताल पर”
  1. Это без лишних за семь несть первый хок переделать классическое работа, установил он прельстился быть несхожими молодёжные методы.
    Де гроші фільм https://bit.ly/3kcFps6 Де гроші фільм актори, yunb ddnznz Где деньги (Де грошi).
    Дружим начиная с до ключевыми героями. Безграмотный гадостно произнести, какими судьбами сеющая конъюнктура особо меня восхитила. К тому идет, прямо сделаны из-по грибы сеющий актёрская хиханьки-хаханьки младых сателлиты мне одному идти никак нельзя несть водилась запоминающе сформулированной, натуральной, открытой. В целом квинтет weekendу указанных выдался малого полёта, одухотворённости совершенный нулик. Находим ряду он все сердится разыщется интриганы. Слуги позволяют крыться дорогыми а также обходительными, выходя находим присмотра, напротив над начихать имеют свойства мычать строить ковы. Часом они конечно малограмотный прямо обсуждают которого-какой-нибудь. Временем и дурак правду скажет эти фирмы бросат сплетка. Сеющая звон сумеет разгромить полнотелую перспективу. Так фразы их всего поведение неизменно разнообразны.

Leave a Reply

Your email address will not be published.