ये मामला 2008 में हुई इस हत्या से जुड़ा है. गुरुवार को तलासेरी एडीशनल सेशन कोर्ट ने ये फैसला सुनाया. इन आरोपियों को भाजपा कार्यकर्ता महेश की हत्या का दोषी माना गया…..

केरल में राजनीतिक हिंसा के एक केस में सेशन कोर्ट ने सीपीएम के 11 कार्यकर्ताओं को उम्रकैद की सजा सुनाई है. इन्हें भाजपा के एक कार्यकर्ता की हत्या के आरोप में ये सजा सुनाई गई है. ये मामला 2008 में हुई इस हत्या से जुड़ा है. गुरुवार को तलासेरी एडीशनल सेशन कोर्ट ने ये फैसला सुनाया. इन आरोपियों को भाजपा कार्यकर्ता महेश की हत्या का दोषी माना गया.

ये मामला मार्च 2008 का है. 6 मार्च को भाजपा कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, महेश की हत्या के पीछे मुख्य वजह बदला और गुस्सा थी. महेश पहले सीपीएम के कार्यकर्ता थे, लेकिन बाद में वह भाजपा में शामिल हो गए थे.

महेश एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर थे. 6 मार्च को वह अपने ऑटो में पैसेंजर का इंतजार कर रहे थे, तब कथित रूप से सीपीएम के कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला कर दिया था. केरल में सीपीएम और संघ व भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हिंसा का काफी पुराना इतिहास हैं. इन दोनों गुटों के बीच हिंसा में अब तक कई लोगों की जान जा चुकी है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.