इन दिनों कांग्रेस से भाजपा में आए बीजेपी नेता और गोवा सरकार में मंत्री विश्वजीत प्रताप राणे के नाम के चर्चे चल रहे हैं। जिन दो कांग्रेसी विधायकों ने भाजपा का हाथ पकड़ा है, उन्हे लुभाने में राणे की बड़ी भूमिका रही है। कांग्रेसी विधायकों के भाजपा में शामिल हो जाने के बाद विधानसभा की तस्वीर ही बदल गई है।
यह बताया जा रहा है कि कांग्रेसी विधायक सुभाष शिरोडकर और दयानंद सोपते के मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिलने से पूर्व ही राणे दिल्ली आ पहुंचे थे। इसके बाद शिरोडकर और सोपते ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया। अब विधानसभा में बीजेपी और कांग्रेस के सदस्यों की संख्या बराबर हो गई है। राणे पर निशाना साधते हुए विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर ने कहा कि जनता उन्हे सबक सिखाएगी।

मंगलवार को कांग्रेस ने यह भा दावा किया कि राणे खुद को गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर परिकर का उत्तराधिकारी दिखाने की दिखावा कर रहे हैं। हालांकि इस बात से बीजेपी ने इनकार किया है लेकिन इस तरह के दिखावे और कयासबाजी से पार्टी में हलचल होना स्वाभाविक है। अपना नाम न बताने की शर्त पर बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि अगर राणे को मुख्यमंत्री बनाया जाता है तो वे पार्टी को कुछ ही सालों में पूरी तरह से खत्म कर डालेंगे।

250 thoughts on “कांग्रेसी विधायकों को लुभाने के पीछे हो सकता है गोवा के मंत्री राणे का हाथ”

Leave a Reply

Your email address will not be published.