कमलनाथ ने लिखा पत्र, मुख्य सचिव को हटाए चुनाव आयोग

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्य सचिव बीपी सिंह को हटाने के लिए चुनाव आयोग को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि मप्र में विधानसभा चुनाव के ठीक पहले सिंह को छह महीने की सेवावृद्धि दिया जाना गलत है, क्योंकि उनका कार्यकाल चुनाव तक रहेगा। इसलिए निष्पक्षता के लिए सिंह को तुरंत हटाया जाए।

कमलनाथ ने आयोग से आग्रह किया गया है कि मुख्य सचिव को बदलने के लिए राज्य सरकार को निर्देशित किया जाए। नए मुख्य सचिव की नियुक्ति के लिए नामों का पैनल बुलवाएं। कांग्रेस के मीडिया प्रभारी मानक अग्रवाल ने बताया कि कमलनाथ ने अपने पत्र में याद दिलाया है कि राजस्थान में नए मुख्य सचिव नियुक्त किए गए हैं, वहां भी मप्र के साथ चुनाव होना है। इसलिए इस आधार पर नियुक्ति नहीं दी जा सकती।

मुख्य सचिव प्रशासनिक मुखिया होता है उसका चुनाव में लगे अफसरों पर कंट्रोल रहता है इसलिए आशंका है कि बीपी सिंह सत्ताधारी दल भाजपा के हित में अपने प्रभाव का इस्तेमाल करेंगे। वे बोले कि कहा कि कांग्रेस ऐसे अफसरों की सूची बना रही है जो भाजपा के पक्ष में काम कर रहे है। अग्रवाल ने चुनाव को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनके मंत्रियों की संपत्ति की जांच कराने की मांग की है।

बाबरिया ने लगाया प्रदेश में हिटलरशाही का आरोप

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी महासचिव दीपक बाबरिया ने गुरुवार को आरोप लगाया है कि मप्र में विपक्ष की आवाज को कुचला जा रहा है। भाजपा सरकार की हिटलरशाही चल रही है, अंग्रेजों के शासनकाल से भी बदतर स्थिति है।विधानसभा परिसर में कांग्रेस विधायकों द्वारा चलाए जा रहे डमी सत्र को देखने पहुंचे बाबरिया पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार और केन्द्र की एनडीए सरकार ने लोकतंत्र की हत्या कर दी है। प्रदेश में विधानसभा के बहुत कम दिनों के सत्र बुलाए गए, वह भी समय से पहले खत्म कर दिए गए।

सिंह ने भाजपा की बैठक में प्रेजेंटेशन देने पर की आपत्ति

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने भाजपा की बैठक में अफसरों के प्रेजेंटेशन देने पर मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि यह अनुचित है यदि नियम में आता है तो अफसरों को कांग्रेस विधायकों के सामने भी प्रेजेंटेशन देने भेजें। उन्होंने कहा कि वह इस मामले की शिकायत चुनाव आयोग और केन्द्रीय कार्मिक मंत्रालय को भेज रहे हैं। इस पर भाजपा प्रवक्ता राहुल कोठारी ने अजय सिंह के पिता अर्जुन सिंह की कार्यशैली पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या हाईकमान के एजेंडे के तहत एंडरसन को छुड़वाने के लिए वरिष्ठ अफसरों का उपयोग ठीक था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.