महाकाल की नगरी उज्जैन में बाबा महाकाल के अलावा ये पावन भूमि यहां पर मौजूद मंगलनाथ मंदिर के लिए भी मशहूर है. 

उज्‍जैन: इस मंदिर में होता है मंगल दोष का निवारण, जानें क्‍या है महत्‍व...

उज्‍जैन: महाकाल की नगरी उज्जैन को पुराणों में मंगल की जननी भी कहा गया है. बाबा महाकाल के अलावा ये पावन भूमि यहां पर मौजूद मंगलनाथ मंदिर के लिए भी मशहूर है. कुंडली में मंगल दोष होने पर लोग यहां आकर भगवान मंगलनाथ की आराधना करते हैं और अनिष्ट ग्रहों की शांति के लिए मंदिर में पूजा-पाठ करवाते हैं.

क्‍या होता है मंगलदोष
मंगल दोष एक ऐसी स्थिति है, जो जिस किसी जातक की कुंडली में बन जाये तो उसकी जिंदगी में उथल-पुथल हो जाती है. मंगल दोष कुंडली के किसी भी घर में स्थित अशुभ मंगल के द्वारा बनाए जाने वाले दोष को कहते हैं, जो कुंडली में अपनी स्थिति और बल के चलते जातक के जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में समस्याएं उत्पन्न कर सकता है. मंगल दोष पूरी तरह से ग्रहों की स्थति पर आधारित है.

क्‍या कहते हैं ज्‍योतिष 
ज्योतिष की मानें तो यदि किसी जातक के जन्म चक्र के पहले, चौथे, सातवें, आठवें और बारहवें घर में मंगल हो तो ऐसी स्थिति में पैदा हुआ जातक मांगलिक कहा जाता है. यह स्थिति विवाह के लिए अत्यंत अशुभ मानी जाती है. संबंधों में तनाव व बिखराव, घर में कोई अनहोनी व अप्रिय घटना, कार्य में बेवजह बाधा और असुविधा तथा किसी भी प्रकार की क्षति और दंपत्ति की असामायिक मृत्यु का कारण मांगलिक दोष को माना जाता है.

 

कैसे हो निवारण 

68 thoughts on “उज्‍जैन: इस मंदिर में होता है मंगल दोष का निवारण, जानें क्‍या है महत्‍व…”
  1. You’re so awesome! I don’t believe I have read through anything like this before. So great to find somebody with unique thoughts on this topic. Seriously.. thank you for starting this up. This website is something that is required on the internet, someone with a little originality!|

Leave a Reply

Your email address will not be published.