मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले के जनजातीय कार्य विभाग में एक साहब जो छात्रावास के अधीक्षकों से कर्मचारियों, भृत्य ,चौकीदार का वेतन निकलने के लिए इन साहब के हस्ताक्षर लगते हैं जिसके लिए उक्त साहब जोकि दोयम दर्जे के साहब कहलाते हैं इनकी कारगुजारियों के किस्से सहायक आयुक्त कार्यालय में सुनने को आराम से मिल जाते हैं यह साहब इतने बड़े पैमाने पर वसूली करते हैं कि यह बिना पैसे लिये वेतन पत्रक में हस्ताक्षर नहीं करते कलेक्ट्रेट परिसर के ऊपरी हिस्से के जानकार बताते हैं कि साहब की इसी हरकत की वजह से इन साहब की एक महिला शिक्षक ने छेड़छाड़ करने की शिकायत दर्ज कराई थी जो प्रकरण अभी भी कोर्ट में चल रहा है लेकिन साहब अभी भी सुधरने को तैयार नहीं है बहरहाल साहब की कारगुजारियों के किस्से निरंतर  महाकौशल न्यूज़ पर जारी है………..

One thought on “आदिवासी विभाग में बिना पैसे लिए साहब नहीं करते वेतन पत्रक में साईन”

Leave a Reply

Your email address will not be published.