रोमांचक फाइनल में बांग्‍लादेश को तीन विकेट से हराकर भारत सातवीं बार एशिया कप चैंपियन बन गया है. भारतीय टीम ने जीत के लिए जरूरी 223 रन का लक्ष्‍य 50वें ओवर की आखिरी गेंद पर हासिल किया. विजयी शॉट केदार जाधव के बल्‍ले से निकला. केदार 23 और कुलदीप यादव 5 रन बनाकर नाबाद रहे. मैच में हार के साथ बांग्‍लादेश का एशिया कप चैंपियन बनने का सपना तीसरी बार टूट गया.

दूबई:
रोमांचक फाइनल में बांग्‍लादेश को तीन विकेट से हराकर भारत सातवीं बार एशिया कप चैंपियन बन गया है. भारतीय टीम ने जीत के लिए जरूरी 223 रन का लक्ष्‍य 50वें ओवर की आखिरी गेंद पर हासिल किया. विजयी शॉट केदार जाधव के बल्‍ले से निकला. केदार 23 और कुलदीप यादव 5 रन बनाकर नाबाद रहे. मैच में हार के साथ बांग्‍लादेश का एशिया कप चैंपियन बनने का सपना तीसरी बार टूट गया. बांग्‍लादेशी टीम इससे पहले वर्ष 2012 और 2016 में एशिया कप के फाइनल में पहुंच चुका है और उस समय भी उसे उपविजेता रहकर संतोष करना पड़ा था. भारत के लिए कप्‍तान रोहित शर्मा ने सर्वाधिक 48 रन बनाए जबकि दिनेश कार्तिक ने 37 और एमएस धोनी ने 36 रन का योगदान दिया. इससे पहले, भारतीय कप्‍तान रोहित शर्मा ने दुबई इंटरनेशनल स्‍टेडियम में टॉस जीतकर बांग्‍लादेश को पहले बैटिंग के लिए उतारा था. ओपनर लिटन दास के पहले वनडे शतक (121 रन, 117 गेंद, 12 चौके और दो छक्‍के) और प्रारंभिक विकेट के लिए उनकी मेहदी हसन (32) के साथ हुई 120 रन की साझेदारी के बावजूद बांग्‍लादेश की टीम 48.3 ओवर में 222 रन बनाकर आउट हो गई. जवाब में भारत ने संघर्ष करते हुए आखिरी गेंद पर लक्ष्‍य हासिल कर लिया.शिखर धवन को मैन ऑफ द टूर्नामेंट और लिटन दास को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया.

भारतीय पारी:आखिरी गेंद पर मैच जीत पाई भारतीय टीम

बांग्‍लादेश के 222 रन के जवाब में रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी ने भारत को अच्‍छी शुरुआत दी. इन दोनों ने मेहदी हसन की ओर से फेंके गए पारी के पहले ही ओवर में 10 रन बना डाले, इसमें धवन और रोहित का एक-एक चौका शामिल रहा.मुस्‍तफिजुर की ओर से फेंके गए दूसरे ओवर में दो रन बने.तीसरे ओवर में रोहित ने फिर मेहदी हसन को चौका लगाया.मुस्‍तफिजुर के अगले ओवर में धवन के चौके सहित 7 रन बने. पांचवें ओवर में बॉलिंग के लिए आए नजमुल इस्‍लाम का स्‍वागत रोहित शर्मा ने पहली गेंद पर छक्‍का लगाकर किया.इस ओवर में धवन ने भी चौका जमाया लेकिन अगली ही गेंद को उठाकर मारने की कोशिश में शिखर (15 रन, 14 गेंद, तीन चौके) सौम्‍य सरकार को कैच थमा बैठे.5 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर एक विकेट खोकर 35 रन था.छठे ओवर में रोहित ने मुस्‍तफिजुर को छक्‍का जड़ते हुए स्‍कोर 40 के पार पहुंचा दिया.आठवें ओवर में भारतीय टीम को दूसरा झटका अंबाती रायुडू (2) के रूप में गिरा जिन्‍हें मशरफे मुर्तजा ने विकेटकीपर रहीम से कैच कराया. रायुडू के स्‍थान पर दिनेश कार्तिक बैटिंग के लिए आए.भारतीय टीम के 50 रन 8.3 ओवर में पूरे हुए. 15 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर दो विकेट खोकर 79 रन था.17वें ओवर में रोहित शर्मा (48 रन, 55 गेंद, तीन चौके और तीन छक्‍के) को आउट करके रुबेल हुसैन को बांग्‍लादेश को सबसे महत्‍वपूर्ण सफलता दिलाई. रोहित के आउट होने से भारतीय खेमे की चिंता कुछ बढ़ गई थी और रनगति नीचे गिरने लगी थी. रोहित की जगह धोनी बैटिंग के लिए आए.21वें ओवर में नजमुल इस्‍लाम को आक्रमण पर लाया गया.कार्तिक ने इस ओवर में छक्‍का जड़ते हुए भारतीय फैंस में जोश भरा.टीम इंडिया के 100 रन 23.1 ओवर में महेंद्र सिंह धोनी के चौके के जरिये पूरे हुए.25 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर तीन विकेट खोकर 112 रन था, शेष 25 ओवर में टीम को 111 रन की जरूरत थी.

शुरुआती कई गेंदें विकेट का मिजाज भांपने में लगाने के बाद धोनी अब अपने रंग में आते जा रहे थे. कार्तिक के साथ उनकी साझेदारी 50 रन की हो चुकी थी. 30 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर तीन विकेट खोकर 135 रन था.ऐसे समय जब भारतीय पारी मजबूती से लक्ष्‍य की ओर बढ़ती नजर आ रही थी, दिनेश कार्तिक (37) आउट हो गए. उन्‍हें महमूदुल्‍लाह ने एलबीडब्‍ल्‍यू किया.कार्तिक ने धोनी के साथ चौथे विकेट के लिए 54 रन जोड़े.कार्तिक की जगह आए जाधव ने 33वें ओवर में महमूदुल्‍लाह को छक्‍का लगाकर भारतीय स्‍कोर को 150 रन के नजदीक पहुंचाया.टीम इंडिया के 150 रन 33.3 ओवर में पूरे हुए.35 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर चार विकेट खोकर 154 रन था.37वें ओवर में महेंद्र सिंह धोनी (36 रन, 67 गेंद,तीन चौके) को आउट करके मुस्‍तफिजुर ने टीम इंडिया को बड़ा झटका दिया. धोनी की जगह रवींद्र जडेजा बैटिंग करने आए.भारतीय टीम को एक और झटका उस समय लगा जब हैमस्ट्रिंग इंजुरी के कारण केदार जाधव को रिटायर होना पड़ा.40 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर पांच विकेट खोकर 172 रन था. रिटायर हुए जाधव की जगह भुवनेश्‍वर बैटिंग के लिए आए. 45 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर पांच विकेट खोकर 197 रन था.अंतिम 5 ओवर में भारतीय टीम को 26 रन की दरकार थी.46वें ओवर में भुवनेश्‍वर ने रुबेल को छक्‍का जमाकर भारतीय फैंस में खुशी का संचार कर दिया. इसी शॉट के साथ 45.3 ओवर में भारत के 200 रन पूरे हुए. ओवर में 8 रन बने.48 ओवर में रुबेल ने जडेजा (23) को विकेटकीपर रहीम से कैच कराकर भारत को छठा झटका दिया. भारत का सातवां विकेट भुवनेश्‍वर (21) के रूप में गिरा, उन्‍हें मुस्‍तफिजुर ने रहीम से कैच कराया.आखिरी ओवर में भारत को छह गेंद पर छह रन की जरूरत थी.जिसे टीम ने आखिरी गेंद पर हासिल कर लिया. केदार जाधव 23 और कुलदीप यादव 5 रन बनाकर नाबाद रहे.

विकेट पतन: 35-1 (धवन, 4.4), 46-2 (रायुडू, 7.3), 83-3 (रोहित, 16.4), 137-4 (कार्तिक, 30.4), 160-5 (धोनी, 36.1), 212-6 (जडेजा, 47.2), 214-7 (भुवनेश्‍वर, 48.1)

बांग्‍लादेश की पारी : लिटन ने खेली शतकीय पारी, अकेले बल्‍लेबाज नाकाम

भारत के आमंत्रण पर पहले बैटिंग के लिए उतरी बांग्‍लादेश की पारी लिटन दास के साथ मेहदी हसन ने शुरू की. भुवनेश्‍वर कुमार के पहले ओवर में तीन रन बने. इस ओवर में लिटन को जीवनदान भी मिला जब दूसरे स्लिप में दिनेश कार्तिक कैच नहीं लपक पाए. पारी के दूसरे ओवर में बुमराह को मेहदी हसन और चौथे ओवर में लिटन दास व मेहदी हसन ने चौका लगाया. बुमराह अपेक्षा के विपरीत शुरुआती दो ओवर (17 रन) में महंगे रहे थे. पांच ओवर के बाद बांग्‍लादेश का स्‍कोर बिना विकेट खोए 33 रन था.पारी के छठे ओवर में लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को आक्रमण पर लाया गया.पारी के छठे ओवर में लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को आक्रमण पर लाया गया. सातवें ओवर में लिटन ने फिर बुमराह को चौका लगाया. आठवें ओवर में लिटन ने चहल को छक्‍का लगाते हुए अपने आक्रामक तेवर दिखाए. बांग्‍लादेश के 50 रन 7.4 ओवर में पूरे हुए. इस ओवर की आखिरी गेंद पर लिटन ने फिर छक्‍का लगाया. चहल के इस ओवर में 16 रन बने.10 ओवर के बाद बांग्‍लादेश का स्‍कोर बिना विकेट खोए 65 रन था.लिटन और मेहदी की साझेदारी तोड़ने के लिए रोहित शर्मा ने 11वें ओवर में चाइनामैन कुलदीप यादव को गेंदबाजी सौंपी. 12वें ओवर में लिटन ने रवींद्र जडेजा की गेंद पर चौका लगाते हुए पहला अर्धशतक पूरा किया, इस दौरान उनहोंने 33 गेंदों का सामना करते हुए छह चौके और दो छक्‍के लगाए.इसी ओवर में लिटन दास को जीवदान भी मिला जब चहल ने मिडविकेट पर कैच छोड़ दिया.15 ओवर में बांग्‍लादेश का स्‍कोर बिना विकेट खोए 86 रन था.बांग्‍लादेश के 100 रन 17.5 ओवर में लिटन दास के चौके से पूरे हुए.बांग्‍लादेश के 100 रन 17.5 ओवर में लिटन दास के चौके से पूरे हुए. बांग्‍लादेश की भारत के खिलाफ पहले विकेट के लिए यह दूसरी शतकीय साझेदारी रही. लिटन-मेहदी से पहले तमीम इकबाल और सौम्‍य सरकार की जोड़ी ने वर्ष 2015 में भारत के खिलाफ 102 रन जोड़े थे.पारी आगे बढ़ने के साथ लिटन की बल्‍लेबाजी रंग में आती जा रही थी, 20वें ओवर में उन्‍होंने जडेजा को दो चौके लगाए.जल्‍द ही लिटन ने बांग्‍लादेश की ओर से किसी फाइनल में सर्वोच्‍च स्‍कोर के शब्‍बीर रहमान (77 रन बनाम भारत, कोलंबो, वर्ष 2018) के रिकॉर्ड को पार किया.21वें ओवर में स्पिनर केदार जाधव ने भारत को पहली कायमाबी दिलाते हुए मेहदी हसन (32 रन, 59 गेंद, तीन चौके) को कवर में अंबाती रायुडू से कैच करा दिया. मेहदी की जगह इमरुल कायस ने ली.24वें ओवर में बांग्‍लादेश का दूसरा विकेट इमरुल कायस (2) के रूप में गिरा जिन्‍हें युजवेंद्र चहल ने एलबीडब्‍ल्‍यू किया. 25 ओवर के बाद बांग्‍लादेश का स्‍कोर दो विकेट खोकर 133 रन था.

मुशफिकुर रहीम (5) आज बड़ी पारी नहीं खेल पाए और केदार जाधव की गेंद पर बुमराह के हाथों में कैद हो गए. जल्‍दी-जल्‍दी बांग्‍लादेश के तीन विकेट गिरने से मैच रोमांचक हो गया था. बांग्‍लादेश अभी संभल भी नहीं पाया था कि मोहम्‍मद मिथुन (2) के रूप में उसे चौथा झटका लगा. जडेजा की शानदार फील्डिंग के कारण मिथुन रन आउट हुए. इसके कुछ देर बाद लिटन दास का पहला शतक 87 गेंद पर 11 चौकों और दो छक्‍कों की मदद से पूरा हुआ.बांग्‍लादेश के 150 रन 31.3 ओवर में पूरे हुए.कुलदीप यादव ने 33वें ओवर में महमूदुल्‍लाह (4) को बुमराह से डीप मिडविकेट पर कैच कराकर भारत को पांचवीं कामयाबी दिलाई.पहले विकेट के लिए 120 रन की साझेदारी होने के बाद बांग्‍लादेश ने 21 रन के अंदर पांच विकेट गंवा दिए थे. 40 ओवर में बांग्‍लादेश का स्‍कोर 5 विकेट खोकर 178 रन था.188 के स्‍कोर पर बांग्‍लादेश ने लिटन दास (121 रन, 117 बॉल, 12 चौके और दो छक्‍के) का विकेट गंवा दिया, उन्‍हें कुलदीप की गेंद पर धोनी ने स्‍टंप किया. टीवी अम्‍पायर ने कई बार रिव्‍यू देखने के बाद भारत के पक्ष में यह फैसला दिया. कुलदीप ने अपने अगले ओवर में मशरफे मुर्तजा (7 रन) को धोनी से स्‍टंप करा दिया. मुर्तजा ने ओवर की दूसरी गेंद पर छक्‍का लगाया था लेकिन कुलदीप ने उन्‍हें आउट करके हिसाब बराबर कर दिया.बांग्‍लादेश के 200 रन 44.1 ओवर में पूरे हुए.बांग्‍लादेश के अगले तीन विकेट नजमुल इस्‍लाम (7), सौम्‍य सरकार (33)और रुबेल हुसैन (0)के रूप में गिरे, इसमें से नजमुल और सरकार रन आउट हुए. आखिरी विकेट के रूप में रुबेल को बुमराह ने बोल्‍ड किया. भारत के लिए कुलदीप यादव ने सर्वाधिक तीन और केदार जाधव ने दो विकेट लिए.

 

61 thoughts on “आखिरी गेंद पर बांग्लादेश के साथ काटे की टक्कर मै चैंपियन बना भारत, सातवीं बार एशिया कप पर किया कब्जा”
  1. Amazing blog! Do you have any tips and hints for aspiring writers? I’m hoping to start my own blog soon but I’m a little lost on everything. Would you recommend starting with a free platform like WordPress or go for a paid option? There are so many choices out there that I’m totally overwhelmed .. Any ideas? Appreciate it!|

  2. Magnificent web site. A lot of helpful info here. I’m sending it to several friends ans additionally sharing in delicious. And certainly, thank you on your sweat!|

Leave a Reply

Your email address will not be published.