दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के धरने के मामले में नया मोड़ आ गया है. चार राज्यों के मुख्यमंत्री उनके समर्थन में आ गए हैं………

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के धरने के मामले में नया मोड़ आ गया है. चार राज्यों के मुख्यमंत्री उनके समर्थन में आ गए हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू, केरल के सीएम पिनरई विजयन और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने अरविंद केजरीवाल का समर्थन किया है. उन्होंने आज शाम एलजी अनिल बैजल से केजरीवाल से मिलने की इजाजत मांगी थी, लेकिन उन्होंने अनुमति देने से इंकार कर दिया.
केजरीवाल के परिवारवालों से की मुलाकात
मुलाकात की इजाजत नहीं मिलने के बाद चारों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने सीएम आवास जाकर केजरीवाल के परिवार से मुलाकात की. इसके बाद उनलोगों ने प्रेस कांफ्रेंस कर अपनी एकजुटता दिखाई और कहा कि हम केजरीवाल का समर्थन करने आए हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वह इस मामले को पीएम के सामने भी उठाएंगी. ममता ने कहा कि किसी भी मुख्यमंत्री को अगर दिक्कत होती है तो हम समर्थन करेंगे. हम चाहते है कि समस्या का हल निकले. ये नहीं होना चाहिए.
ममता ने कहा कि दिल्ली का अगर ये हाल है तो बाहर बहुत गलत मैसेज जा रहा है. अगर कोई बीजेपी का मुख्यमंत्री भी कहता है तो हम उसको भी सुनेंगे. हम LG को संवैधानिक संस्था मानते हैं. हम लोकतंत्र को मानते हैं, लेकिन हम मुख्यमंत्री के साथ नहीं मिल पा रहे हैं. मैं किसी पर आरोप नहीं लगाना चाहती हूं कि कौन इस परिस्थिति के लिए जिम्मेदार है. हमारी भी इज्जत है हम ऐसे सड़क पर मार्च नहीं कर सकते हैं. अगर LG इजाजत नहीं देंगे तो हम क्या करेंगे. हम सरकार और अधिकारी दोनों की इज्जत करेंगे. हम मारपीट पर चर्चा नहीं करेंगे.
पश्चिम बंगाल की सीएम ने कहा कि दिल्ली में आज कई तरह की समस्या है. साथ काम न करने की वजह से आम जनता का नुकसान हो रहा है. संविधान के मुताबिक हमनें उप-राज्यपाल से अनुरोध किया था कि हमें सीएम अरविंद केजरीवाल से मिलने दिया जाए. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार हमें कमजोर नहीं समझे, हम चुनी हुईं सरकारें हैं. ममता ने कहा कि छह दिन में केजरीवाल धरने पर हैं और एलजी छह मिनट का समय भी नहीं निकाल सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published.